कॉलम कैसे बनाते हैं? | Column Casting Process in Hindi

Type of Column
Type of Column

कॉलम(Column) कंक्रीट का एक बहुत मजबूत निर्माण होता है, जिसका इस्तेमाल घर के सारे वजन को सामान तरीके से जमीन के अंदर पहुंचने के लिए किया जाता है। कॉलम कैसे बनाते हैं, जानने के लिए उसके स्टेप्स को जानना पड़ेगा।

इसको बनने के लिए कुछ स्टेप होते है

  • खुदाई करना
  • फुटिंग बनाना – फुटिंग के बारे में जरूर पढ़े, ये अच्छा कॉलम डालने के लिए समझना बहुत जरुरी है।
  • कॉलम के लिए असली और मजबूत सरिये को चुनाव करना
  • सरिये की बंधाई (Reinforcement)
  • शटरिंग लगाना (Frame Shuttering)
  • कंक्रीट भरना (Filling Concreat)
  • कंक्रीट सूखने के बाद शटरिंग हटाना
  • तराई करना

कॉलम बनाने के कुछ नियम होते है?

  • पुरे प्लाट में कॉलम को ऐसी जगह देना चाहिए ताकि घर का पूरा वजन सामान रूप से हर कॉलम पे बराबर बराबर बट जाए ना की किसी एक कॉलम पे इक्कठा हो जाए ऐसा करने से कॉलम टूट सकता है।
  • घर की सुंदरता तो बढ़ने से ज्यादा घर की मजबूती पे ध्यान देना चाहिए, कुछ लोग जबरदस्ती कॉलम को पतला करवाते है ताकि वो बाहर न निकले मगर ऐसा नहीं करना चाहिए ऐसा करने से कॉलम की वजन उठाने के क्षमता कम हो जाती है।
  • कॉलम की मजबूती उसको बनाने वाले सामान के ऊपर निर्भर करती है। अगर आपने कमजोर ख़राब या नकली सरिया लगाया है या कम सीमेंट डाला है, तो कॉलम कभी भार नहीं उठा पायेगा जितना उसे उठाना चाहिए। इसलिए असली सरिये का इस्तेमाल करे और M20 से कम कंक्रीट का इस्तेमाल न करे।

ये भी पढ़े – नकली और असली सरिया कैसे पहचाने | कंक्रीट के ग्रेड और उनके उपयोग | शटरिंग(Shuttering) कैसे करते है

  • अगर आप मजबूत कॉलम बनाना चाहते है तो आप एक बार में ज्यादा से ज्यादा 5 फ़ीट से ज्यादा बड़ा कॉलम एक दिन में न बनवाये वैसे तो ये बात कांट्रेक्टर और मिस्त्री जानते ही है मगर कई बार वो जल्दीबाजी करने लग जाते है ऐसा करने से बचना चाहिए।
  • इसके लिए ज्यादा मोटे सरिये का इस्तेमाल करना भी ठीक नहीं है, सरियो का कंक्रीट को बांध के रखना होता है, भार उठाना नहीं, इसलिए एक अच्छे मोटाई का इस्तेमाल करे न की मोटे। ज्यादातर इंजीनियर और आर्किटेक्ट 12MM से लेकर 25MM तक मोटाई का सरिया डालने की सलाह देते है।
  • स्टीररूपस (Stirrups) जिसे हिंदी में छल्ले(Ring) भी कहते है, उसकी दुरी 6″ से ज्यादा नहीं होनी चाहिए और इसके लिए आप 8 MM से लेकर 12MM तक की मोटाई का इस्तेमाल कर सकते है

कॉलम का साइज़ क्या होना चाहिए?

कॉलम का साइज कुछ बातो पे निर्भर करता है,

  • कितनी मंजिल का घर बनाना है।
  • दो कॉलम के बीच कितनी दुरी होनी चाहिए।

9″x9″ – दो कॉलम के बीच दूरी 10′ फ़ीट के आसपास होनी चाहिए (जमीनी मंजिल के घर लिए)
9″x12″ – दो कॉलम के बीच दूरी 13′ फ़ीट के आसपास होनी चाहिए (जमीनी मंजिल के साथ + 1 मंजिल और बनाने के लिए)
9″x15″ – दो कॉलम के बीच दूरी 15′ फ़ीट के आसपास होनी चाहिए (जमीनी मंजिल के साथ + 2 मंजिल और बनाने के लिए)
9″x18″ – दो कॉलम के बीच दूरी 18′ फ़ीट के आसपास होनी चाहिए (जमीनी मंजिल के साथ + 4 मंजिल और बनाने के लिए)
12″x12″ – दो कॉलम के बीच दूरी 20′ फ़ीट के आसपास होनी चाहिए (जमीनी मंजिल के साथ + 4 मंजिल और बनाने के लिए)
12″x14″ – दो कॉलम के बीच दूरी 20′ फ़ीट के आसपास होनी चाहिए (जमीनी मंजिल के साथ + 4 मंजिल और बनाने के लिए)


कॉलम बनाते समय ध्यान रखने वाली बाते

  • सरिये की बंधाई बनवाते समय मजबूती से बंधवाये रिंग और सरिया ढीला बंधा नहीं होना चाहिए।
  • सरिया खड़ा करने के बाद उसे एक दम सीधा रखवाए, इसके लिए साहुल(Plumbob) का इस्तेमाल जरूर करवाए।
  • कॉलम की शटरिंग(Shuttring) करने के लिए शूटरिंग प्लाई का ही इस्तेमाल करे।
  • कवर ब्लॉक(Cover Block) कम से कम 25MM रखवाए।
  • कॉलम बनवाते समय वाइब्रेटर(Vibrator) का इस्तेमाल जरूर करवाए।
  • कॉलम की कम से कम 12 दिन तराई करे।
  • अगर आप छत के ऊपर सरिया निकलवा रहे है, तो वो कम से कम 4 फ़ीट बाहर रखवाए।

कॉलम(Column) से जुड़े कुछ सवाल और उनके जवाब

लैपिंग(Lapping) क्या होती है?

सरियो को आपस में जोड़ने को लैपिंग कहते है।

M20 ग्रेड कंक्रीट क्या होता है ?

1 भाग सीमेंट
1.5 भाग रेत
3 भाग कुल
उसमें 0.5 भाग पानी

पहले कॉलम बनाये या दीवार(Brick Work) ?

सबसे पहले कॉलम बनवाना चाहिए उसके बाद दीवार(Brick Work) बनवाना चाहिए।

दीवार और कॉलम के बीच दरार न पड़े इसके लिए क्या करे ?

दीवार और कॉलम के बीच दरार न पड़े इसके लिए आप मुर्गा जाली(Chicken Mesh) का इस्तेमाल कर सकते है अगर आप टाइल(Tile) लगवा रहे है, तो आपको मुर्गा जाली(Chicken Mesh) की कोई जरुरत नहीं है।

Was this helpful?

53 / 3

पढ़ के कैसा लगा, कमेंट करे

Anish Bhardwaj

Anish Bhardwaj

Bahut badiya sir aap logo ne Bahu ache se samjhaya hai

0Shares
error: Content is protected !!
Points देखे
%d bloggers like this: